J. Krishnamurti's Teachings Online in Indian Languages (Hindi, Punjabi, Gujarati, Marathi, Bengali etc.)







हिंसा के माहौल में हमारी ज़िम्मेदारी

कृष्णमूर्ति अध्ययन शिविर : 1 - 4 दिसम्बर 2016 कृष्णमूर्ति स्टडी सेंटर, वाराणसी
‘‘क्या आप हिंसा के चेहरे को साफ और स्पष्ट रूप से देख सकते हैं - हिंसा का चेहरा जो न केवल आपके बाहर बल्कि भीतर भी है ? जिसका अर्थ होगा कि आप पूरी तरह से हिंसा से मुक्त हैं क्योंकि आपने किसी विचारधारा को नहीं थाम रखा है, जिसके जरिये आपको हिंसा से छुटकारा मिलने जा रहा है। इसके लिए बहुत गहरे ध्यान की आवश्यकता है, न कि आपकी शाब्दिक सहमति या असहमति मात्र की।’’ - जे. कृष्णमूर्ति, ज्ञात से मुक्ति


Read more >>


ईश्वर क्या है |


प्रश्न: इससे पहले कि मनुष्य ईश्वर को जान सके, उसे पता तो होना चाहिए कि ईश्वर क्या है | आप ईश्वर को मनुष्य के स्तर पर लाए बिना ईश्वर की अवधारणा प्रस्तुत कैसे करेंगे?

Read more >>

War: A Spectacular, Bloody Projection Of Ourselves


War is merely an outward expression of our inward state, an enlargement of our daily action. It is more spectacular, more bloody, more destructive, but it is the collective result of our individual activities. Therefore you and I are responsible for war, and what can we do to stop it?

युद्ध : दैनिक जीवन का ही बड़ा व्यापक और खूनी प्रक्षेपण


यह हमारी आतंरिक अवस्था की ही एक बाह्य अभिव्यक्ति है, वह हमारे दैनिक कर्म का ही एक विस्त्तार | यकीनन वह एक अधिक व्यापक, अधिक नृशंस, अधिक विध्वंसक है, परंतु है वह हमारी व्यक्तिगत क्रियाओं का ही सामूहिक परिणाम | अतः आप और मैं ही युद्ध के लिए जिम्मेदार हैं | अब प्रश्न है की हम उसे रोकने के लिए क्या कर सकते हैं?

Read more >>

Habit


For several days we have been talking about fear and the various causes that bring about fear. I think one of the most difficult things, which most of us do not seem to apprehend, is the problem of habit. You know, most of us think that when we are young, we should cultivate good habits as opposed to bad habits, and we are told all the time what bad habits are and what good habits are; we are always told of habits that are worthwhile cultivating, and the habits which we should resist or put away.

आदत


पिछले कुछ दिनों से हम भय और उन विभिन्न कारणों पर बातचीत करते आ रहे हैं जो भय को जन्म देते हैं | ...... हममें से अधिकतर लोग यही मानते हैं कि अपनी छोटी उम्र में ही हमें बुरी आदतों के स्थान पर अच्छी आदतों को अपना लेना चाहिए और हमें लगातार यह बताया जाता है कि बुरी आदतें क्या है और अच्छी आदतें क्या हैं |

Read more >>    top of page ↑