J. Krishnamurti's Teachings Online in Indian Languages (Hindi, Punjabi, Gujarati, Marathi, Bengali etc.)






Question: Is it right to copy something?


Krishnamurti: Let us go step by step. When I use English, I am copying English, am I not?

प्रश्न : क्या किसी चीज़ का अनुकरण करना उचित है?


कृष्णमूर्ति : आईए, इस बारे में हम धीरे-धीरे विचार करें | जब मैं अंग्रेज़ी का प्रयोग करता हूं तो मैं अंग्रेज़ी की नक़ल करता हूं, है न?

Read more >>

Question: Why do we hate the poor?


Krishnamurti: Do you hate the poor? Do you hate the poor woman who is carrying the heavy basket on her head, walking all the way from Saraimohana to Banaras? Do you hate her with her torn clothes, dirty?

प्रश्न : हम गरीबों से घृणा क्यों करते हैं?


कृष्णमूर्ति : क्या आप गरीबों से घृणा करते हैं? सराय-मोहाना से बनारस के पूरे रास्ते भर सर पर भरी टोकरी ढोकर ले जाती हुई उस गरीब स्त्री से आप घृणा करते हैं? क्या आप उससे और उसके फटे-पुराने मैले वस्त्रों से, गरीबों से घृणा करते हैं?

Read more >>

Education and the Significance of Life


Education and the Significance of Life

शिक्षा और जीवन का तात्पर्य


शिक्षा और जीवन का तात्पर्य

Read more >>    top of page ↑

कमरा उस आशीष से परिपूर्ण हो उठा |


कमरा उस आशीष से परिपूर्ण हो उठा | इसके पश्चात जो कुछ घटित हुआ, उसे शब्दों में अभिव्यक्त कर पाना लगभग असंभव है; शब्द कितने निर्जीव होते हैं, उनका सुनिश्चित और तय अर्थ होता है और जो घटित हुआ, वह शब्दों तथा वर्णन की क्षमता से पूर्णतया परे था | यह समस्त सृष्टि का केंद्र था; यह एक पावनकारी गांभीर्य बिजली सा था जो नष्ट कर देती है, जलाकर भस्म कर देती है; इसकी गहनता को मापा जाना संभव न था, यह अचल, अभेद्य था, अविकंप और प्रत्यक्ष किंतु आकाश सा निर्भार |

Read more >>    top of page ↑