Talks With Students



The Purpose of Education


I think it is very important to find out for ourselves what the function of education is. There have been so many statements, so many books, so many philosophies and systems that have been invented or thought of by so many people, as to what the purpose of education is, what we live for.

शिक्षा का उद्देश्य


मैं सोचता हूं कि यह बहुत महत्त्वपूर्ण है कि हम स्वयं ही यह पता लगाएं कि शिक्षा का क्या कार्य है| शिक्षा का उद्देश्य क्या है, हम किस लिए जी रहे हैं, इस बारे में अनेक तरह कि बातें हैं, कितनी ही पुस्तकें हैं, कितने ही दार्शनिक सिद्धांतों और पद्धतियों का आविष्कार किया गया है और कितने ही लोगों ने इस पर विचार किया है

Read more >>

Question: A gentleman asks how far do you agree with Shankara who says, ‘Eliminate the mind completely’?


Krishnamurti: Not having read Shankara, I cannot answer. But I think it is very important to find out for ourselves and not repeat Shankara or Buddha. The difficulty with most of us is that we have read, we know what other people have said, but we do not know at all what we ourselves think.

प्रश्न : एक महानुभाव पूछते हैं – शंकर के इस कथन से आप कितना सहमत हैं कि मन को पूर्ण रूप से मिटा दिया ..


कृष्णमूर्ति: चूंकि मैंने शंकर को नहीं पढ़ा है इसलिए इस प्रश्न का उत्तर देना मेरे लिए संभव नहीं है | परंतु मैं यह सोचता हूं कि हमारे लिए महत्त्वपूर्ण यह होगा कि हम शंकर अथवा बुद्ध के वचनों को दोहराने के बदले स्वयं ही इस बारे में पता लगाएं |

Read more >>

Understanding Our Mind


It seems to me that without understanding the way our minds work, one cannot understand and resolve the very complex problems of living. This understanding cannot come through book knowledge.

अपने मन को समझना


मुझे ऐसा लगता है कि अपने मन के तौर-तरीकों को समझे बिना यह संभव नहीं है कि जीवन की अति जटिल समस्याओं को समझा और सुलझाया जा सके | इस प्रकार की समझ किताबी ज्ञान से नहीं आ सकती |

Read more >>

Question: Is it wrong to be full of desires and passions?


Krishnamurti: Which is more important, to understand our desires and passions or to condemn them? The moment you use the words wrong or right, the implication is condemnation, is it not?

क्या इच्छाओं और भावावेगों से भरे होना गलत है?


कृष्णमूर्ति : अधिक महत्त्वपूर्ण क्या है? – अपनी इच्छाओं और भावावेगों को समझना या उनकी निंदा करना? जैसे ही आप सही अथवा गलत आदि शब्दों को प्रयोग में लाते हैं उनकी निंदा शुरू हो जाती है – क्या ऐसा नहीं होता?

Read more >>    top of page ↑

Knowledge and Specialization


The problem of knowledge and specialization, it seems to me, is very important. Let us consider it and see if the mind which is trained in specialization and in knowledge can be free to investigate and to discover whether there is nothing more beyond what it has known, to investigate where knowledge is leading us and the significance of specialization.

ज्ञान और विशेषज्ञता


मुझे ऐसा लगता है कि ज्ञान एवं विशेषज्ञता का प्रश्न अत्यंत गंभीर प्रश्न है | आइए हम इस पर विचार करें और देखें कि क्या वह मन, जिसे विशेषज्ञता हासिल करने और ज्ञान प्राप्त करने के लिए प्रशिक्षित किया गया है, जांच-पड़ताल और खोजबीन करने के लिए स्वतंत्र है कि जो कुछ उसे ज्ञात है उससे परे कुछ है कि ज्ञान उसे कहां ले जा रहा है तथा विशेषज्ञता की सार्थकता क्या है?

Read more >>    top of page ↑


Previous | 1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | Next