J. Krishnamurti's Teachings Online in Indian Languages (Hindi, Punjabi, Gujarati, Marathi, Bengali etc.)



Question: What is sorrow?


Krishnamurti: A boy of ten asks what is sorrow! Do you know anything of sorrow? Do not bother who is asking. But a little boy asking what is sorrow is a sad thing, is it not, it is a very terrible thing. Why should he know sorrow?

प्रश्न : दुःख क्या है?


कृष्णमूर्ति : दस वर्ष का एक बालक पूछता है कि दुःख क्या है! क्या आपको दुःख के बारे में कुछ पता है? इसका महत्त्व नहीं है कि प्रश्न किसके द्वारा पूछा जा रहा है | परंतु एक छोटे से बच्चे द्वारा यह प्रश्न किया जाना कि दुःख क्या है खेद की बात है, है कि नहीं? – यह अत्यंत भयानक बात है | वह दुःख क्यों जाने?

Read more >>

What Is the Basis for Right Action?


First of all, why do we want to change what is, or bring about a transformation? Why? Because what we are dissatisfies us; it creates conflict, disturbance; and disliking that state, we want something better, something nobler, more idealistic. So, we desire transformation because there is pain, discomfort, conflict.

सम्यक क्रिया का आधार क्या है ?


जो है उसे हम बदलना क्यों चाहते है, रूपांतरित करना क्यों चाहते है? क्यों? क्योंकि हम जो है उससे हम असंतुष्ट रहते है | इससे द्वंद्व और विक्षोभ पैदा होता है | और, इस अवस्था को नापसंद करने के कारन हम कुछ बेहतर, कुछ उत्कृष्ट और अधिक आदर्शपूर्ण की चाहत करने लगते है | अतः इस पीड़ा, बेचैनी और द्वंद्व के चलते हम बदलाव चाहते है |

Read more >>

Question: How can we be free from indignation?


Krishnamurti: What do you mean by indignation? You mean when a man beats a heavily laden donkey, you feel angry? You say you feel righteously angry when some big man beats a little boy. Is there such a thing as righteous indignation?

प्रश्न : रोष से मुक्त होने का क्या तरीका है?


कृष्णमूर्ति : रोष से आपका आशय क्या है? क्या आपका आशय यह है कि जब कोई आदमी भारी बोझ से लदे गधे को पीटता है तो उसे देखकर आपको गुस्सा आता है? आप कहते हैं कि जब कोई बड़ा आदमी किसी छोटे से बच्चे को पीटता है तो आपको गुस्सा आना उचित है | क्या उचित क्रोध जैसी कोई चीज़ वास्तव में होती है?

Read more >>    top of page ↑

How do you know that what you are saying is true?


Reply: Why do you ask me that question? Isn’t it true that as long as there is national division, economic division, racial division, religious division, there must be conflict. That is a fact. Right? Would you accept that?

पहला प्रश्न है आपको कैसे मालूम है कि जो आप कह रहे हैं वह सच है?


आप मुझसे यह सवाल क्यों कर रहे हैं? क्या यह सच नहीं है कि जब तक राष्ट्रीय, आर्थिक, प्रजातीय और धार्मिक विभाजन है, द्वंद्व का होना तय है | यह एक तथ्य है | ठीक? क्या आप इससे सहमत हैं?

Read more >>    top of page ↑