Talks With Students



Question: Why do we feel shy?


Krishnamurti: It is good to be a little shy, is it not? A boy or a girl who is just pushing everyone without reservation, without a sense of hesitation, is not as tender and sensitive as a shy person.

प्रश्न : हम शरमाते क्यों हैं?


कृष्णमूर्ति : थोड़ा-बहुत शर्माना तो अच्छी बात है, है न? जो बालक-बालिकाएं बिलकुल संकोच नहीं करते, जिन्हें ज़रा सी भी हिचक महसूस नहीं होती--वे किसी शर्मीले व्यक्ति कि तरह मृदुल और संवेदनशील नहीं हुआ करते |

Read more >>

Tradition


We have been discussing for several days the question of fear. We shall now consider what I think is one of our greatest difficulties—how to prevent the mind from becoming imitative.

परंपरा


हम कई दिनों से भय के प्रश्न पर चर्चा कर रहे हैं | अब हम जिस विषय पर विचार करने जा रहे हैं मुझे लगता है कि वह हमारी सब से बड़ी कठिनाइयों में से एक है – यानि मन को अनुकरण की प्रवृत्ति से कैसे बचाया जा सकता है |

Read more >>

Question: How can we be free from indignation?


Krishnamurti: What do you mean by indignation? You mean when a man beats a heavily laden donkey, you feel angry? You say you feel righteously angry when some big man beats a little boy. Is there such a thing as righteous indignation?

प्रश्न : रोष से मुक्त होने का क्या तरीका है?


कृष्णमूर्ति : रोष से आपका आशय क्या है? क्या आपका आशय यह है कि जब कोई आदमी भारी बोझ से लदे गधे को पीटता है तो उसे देखकर आपको गुस्सा आता है? आप कहते हैं कि जब कोई बड़ा आदमी किसी छोटे से बच्चे को पीटता है तो आपको गुस्सा आना उचित है | क्या उचित क्रोध जैसी कोई चीज़ वास्तव में होती है?

Read more >>

Envy


I do not know if you have found that fear is a very strange thing. Most of us have fear of some kind or another, and it lurks behind so many forms, it hides behind so many virtues.

ईर्ष्या


भय कितनी विचित्र चीज़ है, पता नहीं आपने कभी ऐसा महसूस किया है कि नहीं | हममें से अधिकांश किसी-न-किसी प्रकार के भय से ग्रस्त रहते हैं और भय अपने आपको कई रूपों में छिपाए रहता है, यह अनेक सद्गुणों की आड़ में छुपा रहता है |

Read more >>    top of page ↑

Question: What is experience?


Krishnamurti: When you watch yourself, is it not an experience? When you put on a kurta, is that not an experience? When you watch the boat going down the river, is that not an experience?

प्रश्न : अनुभव क्या है ?


कृष्णमूर्ति : जब आप खुद को देखते हैं तो क्या यह एक अनुभव नहीं है? जब आप कुर्ता पहनते हैं तो क्या यह एक अनुभव नहीं है? और जब आप नदी की धारा की दिशा में जा रही नाव को देख रहे होते हैं तो क्या वह भी एक अनुभव नहीं है?

Read more >>    top of page ↑


Previous | 1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | Next